Hindi Blog Guru

Latest Post

एजेन्‍सी । आज कल केे  दौर में हर कोई चाहता हैै कि शाम कोई उससे पूॅूॅछे कि बाबू आपने खाना खा लिया। हर लडका चाहता हैै कि उसकी कोई गर्ल फ्रेन्‍ड हो। लडकी पटाना तो हर कोई चाहता है लेकिन उसे पता नही होता कि आखिर  करना क्‍या है। अगर पता भी होता हैै तो सब कुछ भूूल जाते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्‍स बतानें जा रहे हैं। जिससे आप अपने रिश्‍ते की श्‍ाुरूआत कर सकते हो। 




उन्‍हे बताइये कि आप उनसे कितना प्‍यार करते हो।   

अगर आप उनसे प्‍यार करते हो और सीधे सीधे बोलनें से डरतेे हो तो अपने इशारों से व्‍यक्‍त कर सकते हो कि आप उन्‍हे कितना प्‍यार करते हो। किसी कॉमन फ्रेन्‍ड का सहारा ले सकते हो। जो आप दाेेनों को अच्‍छे से जानता हो। 


हमेशा रोमान्टिक दिखें

लडकियों को रोमान्‍स ज्‍यादा पसन्‍द होता हैै। इसलिये उनके सामनें हमेशा रोमान्टिक दिखें। अपने फोन की रिंगटोन भी कोई रोमान्टिक सी लगाऐं। जिससे वो आपसे और ज्‍यादा इम्‍परेस हो जाऐंगी। 

तारीफ करनें का कोई मौका छोडे हाथ सेे न जानें दें

जैसा कि सब जानते हैं लडकियों को अपनी तारीफ सुनना ज्‍यादा अच्‍छा लगता हैै। ऐसा कोई भी मौका हाथ से न जानें दें जब आप उनकी तारीफ कर सकते थे। उन्‍हे स्‍पेशल फील कराऐं। जैसे उनसे कहें कि क्‍या आप उनका ओटोग्राफ ले सकते हैं। इससे वो बहुत इम्‍प्रेस हो जाती हैंं। 

छोटी छोटी चीजों का ख्‍याल रखें

आप उनकी छोटी छोटी चीीजों का ख्‍याल रखें। और उन्‍हे यह बात जाहिर भी कराऐं कि आप उनका कितना ख्‍याल रखते हो। 

रहे हमेशा सिम्‍पल 

आप जैसे हैं हमेशा वैसे ही रहें ज्‍यादा बननें की कोशिश न करें। अच्‍छी लडकियों को ज्‍यादातर सिम्‍पल लडके ही पसन्‍द आते हैं। इसलिये हमेशा भीड से दूूर रहें। उनके सामनें कभी स्‍मोकिंग या डिकिंग न करें। 

उनका व उनकेे परिवार का आदर करें

प्‍यार के साथ सम्‍मान भी जरूरी होता हैै। एक बात ध्‍यान रखें लडकियाें केे साथ कभी बहस न करें। उनके परिवार वालों का भी सम्‍मान करें। यदि वो कहीं रास्‍तेे में मिल जाते हैं तो झुक कर उन्‍हे प्रणाम या चरण स्‍पर्श करें। इससे हमारी संस्‍क़़ति झलकती हैै। इससे लडकी व लडकी केे घर वाले दाेेनो ही प्रभावित हो जाते हैं। 

ऐजेन्‍सी। दोस्‍तो इण्‍टरनेंट के इस दौर में जहॉ इण्‍टरनेंट केे बिना रहना मुश्किल हो गया है वहीं नये नये मोबाइल एप्‍पलीकेशन हमारी जिन्‍दगी में प्रवेश करते जा रहे हैं। सोशल मीडीया में सबसे ज्‍यादा धूम मचाने वाला मोबाइल एप्‍पलीकेशन व्‍हाटसएप बडी तेजी के साथ इण्डियन्‍स के मोबाइल फोन मेेंं घर बनाता जा रहा हैै। आज कल ज्‍यादातर एण्‍ड्रायड फोन यूजर व्‍हाटस एप का इस्‍तेेमाल करते हैं। धीरे धीरे व्‍हाटस एप लोगों की जरूरत बनता जा रहा हैै। लोग पर्सनल इस्‍तेमाल से लेकर अपने बिजनिस के मतलब से भी व्‍हाटसएप का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। 


 व्‍हाटस एप दिन व दिन नये नये व दमदार फीचर्स जोडता जा रहा है। वहीं व्‍हाटस एप केे साथ एक समस्‍या भी है कि एक फोन पर व्‍हाटस एप केे दो अकाउण्‍ट काम नही करते। कई बार होता है कि हम पब्लिक नम्‍बर पर व्‍हाटस एप यूूज करते हैं तो पर्सनल कॉन्‍टेक्‍टस छूट जाते हैं और पर्सनल नम्‍बर पर यूूज करते हैं तो पब्लिक काॅॅन्‍टेेक्‍टस छूट जाते हैं। आज हम आपको एक ऐसी ट्रिक बतानें जा रहे हैं जिससे आप अपने फोन पर दो व्‍हाटस एप अकाउण्‍ट चला पाओगे। आपको एक छोटा सा एण्‍ड्रायड मोबाइल एप्‍पलीकेशन अपने फोन में डाउनलोड करना होगा। Parrallel Space- Multi Accounts नाम का यह एप्‍पलीकेशन आप गूगल प्‍ले स्‍टोर से डाउनलोड कर सकते हो। यह एप्‍पलीकेशन हॉग कॉग की कम्‍पनी LBE Tech ने बनाया है। इस एप्‍पलीकेशन को अब तक 5 मिलियन लोग इस्‍टॉल कर चुके हैं। गूगल प्‍ले स्‍टोर में इसे 4.5 स्‍टार के रैैटिंग दी गई हैै। इस मोबाइल एपपलीकेशन में आप व्‍हाटस एप की अलावा अन्‍य अकाउण्‍टस जैसे हाइक, फेेसबुक आदि को रन कर सकते हो। यानी अब एक फोन में दो Accounts को चलाना आसान हो गया हैै। 


Keyword: Multi Whats app acounts, Parralle Space, Multi Accounts, LBE Tech, Technology, 

दोस्‍तो कोई भी ब्‍लॉगर हो चाहे प्रोफेश्‍ानल या नया। लगभग सभी ब्‍लॉगर्स का सपना होता है कि काश वो अपने ब्‍लॉग से पैसे कमा सकते। आज हजारों लोग इस से जुडी पोस्‍ट को गूगल पर सर्च मारते हैं अौर बहुत सारे लेख इस से जुडे आपको गूूगल पर मिल जाऐंगे। तमाम मंच उपलब्‍ध हैं जिससे अाप ब्‍लॉ‍गिंग करते करते पैसे कमा सकते हो। आज ब्‍लॉगर्स का बढती तादाद का एक कारण यह भी है कि लोग ब्‍लॉगिंग में करियर तलाशने लगे हैं। दोस्‍तो अब सवाल यह उठता है कि क्‍या अाप ब्‍लॉग से पैसे कमाऐं जा सकते हैं और यदि कमाये जा सकते हैं तो कितनी तादाद में। तो अाज की यह पोस्‍ट इसी लिये मैने लिख्‍ाी है। इस पोस्‍ट में ब्‍लॉगिंग से पैसे कमानें सम्‍बन्धित बहुत सारी बातें करेंगे। उम्‍मीद है कि यह पोस्‍ट अापको पसन्‍द आयेगी। 

ब्‍लॉगिंग से कितने पैसे कमाऐं जा सकते हैं?

दोस्‍तो हम सबसे पहले आपको यह बता देना चाहते हैं कि ब्‍लॉगिंग से कितने पैसे कमाऐ जा सकते हैं। क्‍योंकि यह जानना बहुत जरूरी है। जब तक हमें फायदा पता नही चलेगा तो हम काम क्‍यों करेंगे। तो इसका सीधा सीधा जबाब है कि ब्‍लॉगिंग से लाखों रूपये महीने कमाये जा सकते हैं। आज कई ब्‍लॉगर ऐसे हैं जो कई कई लाख रूपये महीनें कमा रहें हैं। जैसे हर्ष अग्रवाल जिनका शाउट मी लाउड नाम का ब्‍लॉग है वो अाज सिर्फ ब्‍लॉगिंग से 50 लाख रूपये महीना कमा रहें हैं। हॉलांकि हिन्‍दी ब्‍लॉगर्स की संख्‍या कम ही हैं जो पैसा कमा रहे हैं । लेकिन जब से गूगल एडसेंस ने हिन्‍दी को सपोर्ट किया है तब से हिन्‍दी ब्‍लॉगर्स की राह भी अासान हो गयी है। 

यह भ्‍ाी पढें:- ब्‍लॉगिंग से लाखों रूपये कमानें वाले ब्‍लॉगर्स की कहानी उन्‍ही की जुबानी

किस किस तरीके से पैसे कमाऐं जा सकते हैं?

अब सवाल यह है कि किस किस तरीकों से पैसे कमाऐं जा सकते हैं। सिर्फ ब्‍लॉग बनानें से तो पैसे आयेंगे नही। तो क्‍या करना होगा पैसे कमानें के लिये। आइये जान लेते हैं।

1- विज्ञापन लगाकर पैसे कमाऐं जा सकते हैं

आप गूगल एडसेंस या किसी अन्‍य विज्ञापनदाता कम्‍पनी के विज्ञापन लगाकर पैसे कमा सकते हो। इसमें आपको पे पर विजीटर या पे पर क्लिक के हिसाब से पैसे मिलते हैं। इसके लिये आपके ब्‍लॉग पर कम से कम 1000 यूनिक विजीटर रोजाना आने चाहिये। तब ही भरपूर पैसा मिल पाता है।

यह भ्‍ाी पढें:-  किस तरह से विज्ञापन लगाकर पैसे कमाऐं जा सकते हैं

2- एफीलियेट प्रोग्राम के द्वारा पैसे कमाऐं जा सकते हैं 

आप किसी भी ई कामर्स कम्‍पनी या कोई एेसी कम्‍पनी जाे अपना बिजनिस अॉनलाइन करती हो उनके साथ एफिलियेट पार्टनरशिप करके पैसे कमा सकते हो। आज फिलपकार्ट, स्‍नैपडील, नापतौल, अमेजन, बिगरोक, पेटीएम तमाम कम्‍पनी एेसी हैं जो आपको एफिलियेट मंच प्रदान करती हैं। यह आप ब्‍लॉग बनाते ही पहले दिन से एफिलियेट प्रोग्राम पर काम कर सकते हो।

यह भ्‍ाी पढें:-  जानियें एफीलियेट प्रोग्राम के बारें में (पूरी जानकारी)

3- प्रचार करके पैसे कमा सकते हो

अगर अाप का ब्‍लॉग एक अच्‍छा ब्‍लॉग है और रोजाना अच्‍छे खासे विजीटर आपके ब्‍लॉग पर अाते हैं तो बहुत सारी कम्‍पनियॉ आपसे अपने प्रोडक्‍ट का प्रचार करानें के लिये सम्‍पर्क करेंगी और आपको मुॅह मॉगा पैसा देंगी।

4- आप को लिखनें के भी पैसे मिल सकते हैं

अगर आप की भाषा शैली अच्‍छी और आप लोगों को अपनी पोस्‍ट में बॉध पाते हो तो बहुत सारी कम्‍पनियॉ अापको अपने ब्‍लॉग पर लि खनें के लिये आमंत्रित करेगी। अौर बदले में आपको निश्‍चित भुगतान करेंगी।

5- रेफरल लिंक के जरिये भी कमा सकते हो

कोई भी कम्‍पनी को आप कस्‍टूमर देकर लाइफटाइम तक पैसे कमा सकते हो। बहुत सारी कम्‍पनी ऐसी हैं जो आपको एक रेफरल लिंक देती है और उससे भेजा गया कोई कस्‍टूमर उनकी बेबसाइट पर जाकर अकाउण्‍ट बनाता है तो वो आपको बदलें में एक तय राशि का भुगतान करती हैं। इसके अतिरिक्‍त भविष्‍य में कोई भी प्रोफिट उस कस्‍टूमर को होता है तो वो अापको उसका भुगतान करती हैं। CASH KARO . COM एेसी ही एक कम्‍पनी हैं।


दोस्‍तो ब्‍लॉगिंग से कमानें के तरीके तो बहुत सारे हैं जो मैं आपको अपने इस ब्‍लॉग में बताता रहूॅगा फिलहाल मुख्‍य तरीके मैंने अापको बता दिये हैं। जल्‍द ही मैं ढेर सारे तरीके आपके सामनें लाता रहूॅगा। अब बस याद रखिये हमारे ब्‍लॉग का पता HINDIBLOGGURU.COM 


दोस्‍तो अगर अाप अपना नया ब्‍लॉग बनाने जा रहे हो तो जरा ध्‍यान दीजिये। यह पोस्‍ट उन्‍ही ब्‍लॉगर्स के लिये है जो अपना नया ब्‍लॉग बना रहे हैं। या अपने ब्‍लॉग में बदलाव करनें जा रहे हैं। दोस्‍तो अगर आप पूरी तरह से ब्‍लॉगिंग में अाये हो और अपना अौर अपने ब्‍लॉग का एक खास मुकाम बनाना चाहते हो तो अापको कुछ बुनियादी बातों को ध्‍यान में रखकर ब्‍लॉग बनाना पडेगा। अगर आपकी श्‍ाुरूआत अच्‍छी और बेहतर ढंग से होगी तो आपका ब्‍लॉग उतना ही प्रसिध्‍द होगा। इसलिये ब्‍लॉग बनानें से पूर्व इन बातों पर गौर कीजिये और अपने ब्‍लॉग की श्‍ाुरूआत बेहतर ढंग से कीजिये। 



1- अवश्‍य चुनें स्‍वयं का डोमेन- यदि आप वास्‍तव में एक अच्‍छे ब्‍लॉग की श्‍ाुरूआत करनें जा रहे तो ब्‍लॉगिंग का प्‍लेटफार्म चाहे ब्‍लॉगर हो या वर्डप्रेस  या फिर स्‍वंय की होस्टिंग कुछ भी हो लेकिन खुद का डोमेन नेम अवश्‍य लें ब्‍लॉगर या वर्डप्रेस का डोमेन का इस्‍तेमाल न करें। आप किसी भी डोमेन होस्टिंग साइट से खुद का डोमेन खरीद सकते हैं।


2. सही प्‍लेटफार्म का इस्‍तेमाल करें:- ब्‍लॉग बनानें से पूर्व सही प्‍लेटफार्म का चयन जरूर करें अपने हिसाब से आप ब्‍लॉगर या वर्डप्रेस में से किसी भी प्‍लेटफार्म का चयन कर सकते हो। दोनों ही प्‍लेटफार्म बढियॉ हैं। लेकिन यदि आप खुद की होस्टिंग लेकर ब्‍लॉगिंग श्‍ाुरू कर रहे हो तो ज्‍यादा बेहतर रहेगा।


3- सही एवं पूर्ण रूप से डिजायन करें:- अपने ब्‍लॉग को पूर्ण एवं सही रूप से डिजाइन करें। आज की मॉग को देखते हुये आवश्‍यक विजेट जैसे फॉलोवर, ईमेल सबस्‍क्राइबर जरूर लगायें।  हमेशा सही टेम्‍पलेट का चयन करें। आप किसी प्रोफेशनल डिजाइनर से भी ब्‍लॉग को डिजायन करा सकते हो।


4- सोशल नेटवर्किंग साइट पर भी रहे सक्रिय:- यदि आप ब्‍लॉग बना रहे हो तो सोशल नेटवर्किंग साइट जैसे यूटयूब, फेसबुक, टिवटर भी अपने ब्‍लॉग के नाम से अकाउण्‍ट बनाऐं एवं नियमित संचालित करते रहें। इससे आपके ब्‍लॉग पर ट्रैफिक मिलेगा। और पाठक आप से सीधे जुडे रहेंगे।


5-  एण्‍ड्रायड एप्‍लीकेशन भी जरूरी है:- आज का दौर एण्‍ड्रायड का दौर है इसलिये आपके ब्‍लॉग का एक एण्‍ड्रायड एप्‍लीकेशन होना बहुत जरूरी है। आप अपने ब्‍लॉग का एण्‍ड्रायड एप्‍पलीकेशन फ्री में भी बना सकते हो। जिसके लिये किसी खास जानकारी की आवश्‍यकता नही होती। आप किसी भ्‍ाी प्रोफेशनल डवलपर से भी अपना एप बनबा सकते हो। पर इसके लिये आपको थोडा सा खर्चा करना पड सकता है।


अगर अाप अपने आप को पूरी तरह से ब्‍लॉगिंग को समर्पित कर दोगे तो  निश्‍चित ही आप एक दिन सफल ब्‍लाॅगर बन जाओगे। 


keywords:- How create an Ideal blog, about blogging, कैसे बनाऐं एक अच्‍छा ब्‍लॉग 

दोस्‍तो ब्‍लॉग बनानें के बाद एक समस्‍या सबसे ज्‍यादा यह आती है कि ब्‍लॉग पर विजी‍टर नही आते। दोस्‍तो ब्‍लॉग पर विजीटर लानें के लिये सबसे ज्‍यादा जरूरी है ब्‍लॉग का प्रचार। लेकिन उससे भी जरूरी है ब्‍लॉग पर आपकी लेखन शैली। आप कितना भी प्रचार करके विजीटर को अपने ब्‍लॉग तक ले अाइये लेकिन अगर आपकी भाषा शैली अच्‍छी नही होगी तो विजीटर आप के ब्‍लॉग पर रूकेगा ही नही और न ही भविष्‍य में फिर कभी आपके ब्‍लॉग पर आएगा। प्रमोशन से ज्‍यादा जरूरी है कि कुछ एेसा लिखो कि पाठक आपके ब्‍लॉग पर जमा रहे जब तक आपकी पूरी पोस्‍ट न पढ ले उसे छोडकर न जाऐं। तो आज हम चर्चा करेंगे कि कैसे एक अच्‍छी पोस्‍ट लिखी जाऐ। कैसे अपनी लेखन शैली सुधारी जाए।

यह भी पढें:- ब्‍लॉग बनानें से पूर्व इन 8 बातों का रखें ध्‍यान 

1- कुछ भी लिखने से पूर्व उस विषय पर अच्‍छी जॉच पडताल कर लें। पूरी रिसर्च और जानकारी के बाद ही उस विषय पर पोस्‍ट लिखें। बिना जानकारी के पोस्‍ट लिखना बेकार है।

2- जिस भाषा  काे अाप जानते हो उसी भाषा में पोस्‍ट लिखें दूसरी भाषा में पोस्‍ट न लिखें अन्‍यथा अाप अपनी बात पूरी तरह से समझा नही पाओगे अौर पाठक उसको समझनें के लिये किसी दूसरी बेबसाइट का सहारा लेगा।

यह भी पढें:- जानिये कौन हैं हिन्‍दी का सर्वप्रथम ब्‍लॉगर

3- सरल, सहल भाषा में लिखें ज्‍यादा कठिन या अप्रचलित शब्‍दों का प्रयोग न करें।

4-  प्रत्‍येक पोस्‍ट में कम से कम एक फोटो का इस्‍तेमाल जरूर करें। फोटो अाकर्षक व उस पोस्‍ट से सम्‍बन्धित होना चाहिये।

5-  प्रत्‍येक पोस्‍ट को कम से कम 250 शब्‍दों में लिखें जिससे पाठक के पूरी बात समझ में अाये।

6- किसी की पोस्‍ट को कॉपी करके अपने ब्‍लॉग पर न चिपकाऐं अन्‍यथा यह आपके किसी काम का ही नही बल्कि अापको भारी संकट में भी डाल सकता है। कुछ लोग दूसरों की पोस्‍ट को थोडा तोड मरोड कर प्रस्‍तुत कर देते हैं लेकिन यह तरीका भी सही नही हैं।

7- अपनी पोस्‍ट में पूरी जानकारी देनें की कोशिश करें आधी अधूरी जानकारी पाठक के किसी काम की नही होती।

8- सही रंगों व हैडिंग्‍स व मैटा टैग का उपयोग करें।

9- पोस्‍ट में वेबजह के लिंक न दें इससे पाठक भटक जाते हैं अौर अापके ब्‍लॉग को छोड देते हैं।

10- कोई भी भ्रमित करनें वाली पोस्‍ट न डालें यह कानूनी रूप से भी गलत है और अगर आप कानून से बच भी गये तो भी अापके ब्‍लॉग के  लिये खतरनाक हैं।

11- पोस्‍ट को आकर्षक रूप से लिखें जिससे पाठक आपकी पोस्‍ट पढकर ऊबें नही

12- बीच बीच में उदाहरण जरूर दें।

13- एक पोस्‍ट में एक विषय पर पूरी पोस्‍ट लिखें किसी भी अन्‍य ब्‍लॉग या बेबाइट का बाहरी लिंक तभी दें जब उसकी जरूरत हो। वरना सारी सामग्री अपने ब्‍लॉग पर ही उपलब्‍ध कराऐं।

14- अगर किसी विषय को एक पोस्‍ट में लिख पाना सम्‍भव नही हैं तो उसकी श्रंखलाबध्‍द पोस्‍ट लिखें अौर उनका लिंक पहले वाली पोस्‍ट में अवश्‍य दें।


Keywords: Write a good post, write an attractive post, कैसे बनाऐं अाकर्षक पोस्‍ट 

आलोक कुमार भारत के एक साफटवेयर इंजीनियर हैं। वे प्रथम हिन्‍दी ब्‍लॉगर्स के रूप में जाने जाते हैं। ब्‍लॉग को उसका हिन्‍दी नाम चिटठा देने का श्रेय उन्‍ही को जाता है। हिन्‍दी का सबसे पहला ब्‍लॉग नौ दो ग्‍यारह है। जो आलोक कुमार जी ने 21 अप्रैल 2003 को शुरू किया था। इसके अतिरिक्‍त आलोक कुमार जी ने एक ब्‍लॉग एग्रीगेटर चिटठाजगत डाॅट इन की भी शुरूआत की थी। किसी कारण वश अब वो बन्‍द हो चुका है। आलोक जी अपने ब्‍लॉग देवनागरी डॉट इन पर तकनीकि ज्ञान देते हैं। आलोक जी के बारे में काफी प्रयास करनें के बाद हम सिर्फ इतनी ही जानकारी जुटा पाये है। शीघ्र ही हम अालोक कुमार जी के बारे विस्‍तार से बताऐंगे और कोशिश करेंगे कि आलोक जी का साक्षात्‍कार हम इस ब्‍लॉग पर प्रकाशित कर पाऐं अौर यह भी कोशिश  करेंगे कि अपने इस ब्‍लॉग पर आलोक जी द्वारा लिखा गया  कोई लेख प्रकाशित करें।



Keyword: Alok Kumar Blogger, First Hindi Blogger, First Hindi Blog, ब्‍लॉगर आलोक कुमार, पहला हिन्‍दी ब्‍लॉग, पहला हिन्‍दी ब्‍लाॅगर 


दोस्‍तो आजकल ब्‍लॉगिंग को दौर है जिसे देखो वाे ब्‍लॉग लिख रहा है। क्‍या नेता, क्‍या अभिनेता सभी अपने आप काे दुनिया के बीच रखने के लिये ब्‍लॉगिंग का सहारा लेते हैं। ब्‍लॉगिंग के बारे में बात करने से पहले एक सवाल को जबाब दूँ जो आप सब लोगों के अन्‍दर उठ रहा है कि ब्‍लॉग क्‍या है। बेबसाइट और ब्‍लॉग में क्‍या अन्‍तर है। दोस्‍तो बता दूँ कि ब्‍लॉग एक प्रकार की व्‍यक्तिगत बेसाइट ही होते हैं जिन्‍हे डायरी की तरह लिखा जाता है। ब्‍लॉग में लेख, फोटो अौर दूसरी लिंक भी हो सकते हैं। ब्‍लॉग सामान्‍य भी होते हैं अौर विशेष भी। ब्‍लॉग को हिन्‍दी में चिटठा कहते हैं जबकि ब्‍लॉग लिखने वाले (ब्‍लॉगर को) चिटठाकार। ब्‍लॉग अंग्रेजी शब्‍द बेबलॉग को सूक्ष्‍म रूप है जो बाद में ब्‍लॉग के रूप में प्रसिध्‍द हो गया। जहॉ तक हिन्‍दी के ब्‍लॉगिंग की बात करें तो हिन्‍दी का सबसे प्रथम ब्‍लॉग आलोक कुमार जी ने बनाया था। ब्‍लॉग का हिन्‍दी शब्‍द चिटठा भी उन्‍ही के द्वारा प्रतिपादित किया गया है। हिन्‍दी का सबसे पहला ब्‍लॉग नौ दो ग्‍यारह था जो आलोक कुमार जी ने पोस्‍ट किया था। 


ब्‍लॉग कितने प्रकार से बनाया जा सकता है। 


ब्‍लाॅग कई प्रकार से बनाए जाते हैं जिनमें सबसे सरल तरीका है कि किसी ब्‍लॉगर प्‍लेटफार्म जैसे ब्‍लॉगर, वडप्रेस या लाइवजर्नल आदि पर अकाउण्‍ट बनाकर ब्‍लॉग शुरू किया जा सकता है। इसके अतिरिक्‍त स्‍वयं की डोमेन व होस्टिंग खरीद कर भी ब्‍लॉग बनाया जा सकता है। आजकल माइक्रो ब्‍लॉगिंग भी काफी प्रचलित में हैं 

इसे भी पढें: ब्‍लॉग कैसे बनाऐं। (How Create A Blog)


पैसा भी है ब्‍लॉगिंग में

दोस्‍तो वैसे तो ब्‍लॉग की शुरूआत सिर्फ अपने विचारों को इण्‍टरनेट के जरिये दुनिया के सामने रखने के उददेश्‍य से हुई थी। लेकिन जिस तरह से धीरे धीरे डिजीटल युग में क्रान्ति हुई उसी तरह से ब्‍लॉगिंग में भी काफी बदलाव आये। आज ब्‍लॉगिंग पैसा कमानें का एक बहुत बडा साधन बन कर सामने आया है। आज कई ब्‍लॉगर सिर्फ ब्‍लॉगिंग करके लाखों रूपये महीना कमा रहे हैं। 

इसे भी पढें: ब्‍लॉग से पैसे कैसे कमाऐं (How earn Money with Blog)


बडे काम के हैं ब्‍लॉग

दोस्‍तो ब्‍लॉग बडे काम के होते हैं अगर अाप को कोई जानकारी चाहिये तो इसके दो तरीकेसबसे अच्‍छे होते हैं पहला वीकिपीडिया दूसरा उस वि षय पर आधारित कोई ब्‍लॉग। आपको ब्‍लॉग पर आपके क्षेत्रीय भाषा में उस वि‍षय पर सम्‍पूर्ण जानकारी व अन्‍य लिंक मिल जाऐंगे। 

तेजी से बढ रहें हैं हिन्‍दी ब्‍लॉगर्स

दोस्‍तो आज कल के दौर में हिन्‍दी ब्‍लॉगर्स काफी तेजी से बढ रहें हैं। रोजाना हजारो ब्‍लॉग्‍स हिन्‍दी में तैयार हो रहे  हैं। इनमें कुछ लोग श्‍ाौकिया ब्‍लॉगर हैं जबकि कुछ पैसा कमानें के लिये ब्‍लॉगिंग की दुनिया से जुड रहे हैं। 


keyword: What is Blog, History of Blog, India's First Hindi Blogger, India's First Hindi Blog, ब्‍लॉग क्‍या है, ब्‍लॉग का इतिहास, भारत का पहला हिन्‍दी ब्‍लॉगर, भारत का पहला हिन्‍दी ब्‍लॉग 


MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget